Search
  • GISK GISK

अंतराष्ट्रीय मैत्री दिवस

दोस्त जीवन का वह अभिन्न हिस्सा होते हैं, जो आपको हर हाल में खुश देखना चाहते हैं| दोस्त आपकी सफलता पर खुश होने के साथ-साथ, गलती करने पर आपको डाँटने से भी पीछे नहीं हटते| दोस्ती जैसा भावनात्मक और मजबूत रिश्ता आपको किसी भी दूसरे रिश्ते की कड़वाहट से उबार सकता है| कोई भी मुश्किल आए वह ढाल बन कर आपके सामने खड़े हो जाते हैं| व्यक्ति के जीवन में दोस्तों की अहमियत को समझते हुए और दोस्तों के प्रति आभार और सम्मान व्यक्त करने के उद्देश्य से अमेरिकी कॉग्रेस ने सन 1935 में फ्रेंडशिप डे मनाने की घोषणा कर दी थी|


मैत्री दिवस क्‍यों मनाया जाता है इसके पीछे का कारण ठीक पता नहीं लेकिन कई कहानियाँ प्रचलित हैं कहा जाता है कि प्रथम विश्व युद्ध के बाद लोगों और देशों के बीच काफी शत्रुता बढ़ गई थी, लोग एक दूसरे से नफरत करते थे| तब 1935 में अमेरिकी सरकार ने मैत्री दिवस की शुरुआत की थी दूसरी कहानी के अनुसार अगस्त के पहले रविवार को अमेरिकी सरकार ने एक व्यक्ति को मार दिया था और जिसकी याद और गम में एक दोस्त ने आत्महत्या कर ली। निर्दोष दोस्तों की मौत पर वहाँ के लोगों ने बहुत गुस्सा दिखाया था, जिसके बाद अमेरिकी सरकार को उनकी बात माननी पड़ी, लेकिन 21 साल बाद वर्ष 1958 में सरकार ने उनके प्रस्ताव को मंजूर किया और पूरी दुनिया में अगस्त के पहले रविवार को अंतराष्ट्रीय मैत्री दिवस घोषित कर दिया|


सर्वप्रथम मैत्री दिवस 1958 को मनाया गया था|


रविवार को मैत्री दिवस मनाने कारण यह माना गया कि रविवार के दिन लोगों की छुट्टी होती है और वो दोस्‍तों के साथ इस दिन का आनंद ले सकें|


आज युवाओं के बीच मैत्री दिवस बहुत प्रचलित हो चुका है मैत्री दिवस यानि दोस्तों का दिन, इस दिन का इंतजार दोस्तों को पूरे साल होता है| इस दिन सभी अपने अपने दोस्तों के साथ घूमते-फिरते हैं और एक-दूसरे को बैंड बांधते हैं और जिदंगी भर दोस्‍ती निभाने की कसमें खाते हैं|


आधुनिक युग में जी रहे सोशल मीडिया के सहारे बधाई दी जाती है। इस दिन अवकाश तो नहीं रहता लेकिन स्कूल कॉलेजों में पढ़ने वाले दोस्तों के साथ सेलिब्रेट जरूर किया जाता है। अपनी दोस्ती का खास उपहार दिया जाता है। होटल, रेस्टोरेंट में दोस्तों संग मिलकर इंजॉय करते हैं। इस मौके पर घूमने भी जाते हैं कुछ यादगार लम्हों को याद कर भावनात्मक विचारों का आदान-प्रदान भी करते हैं। दोस्तों को अनोखे उपहार देकर दोस्त की भावना को व्यक्त किया जाता है। अनेकों साथी अपने अपने ढंग से मैत्री दिवस को सेलिब्रेट करते हैं।


साल में ऐसे मौका नहीं मिल पाता है जिससे वे अपने दोस्तों को विशेष उपहार दे सकें मिलते तो रोज होंगे लेकिन मैत्री दिवस के दिन मिलने का मजा और आनंदित होने का अवसर ही कुछ अलग माना जाता है। दोस्त के साथ सुख- दुख में खड़ा रहना ही बेस्ट सेलिब्रेशन माना जाता है।

24 views0 comments

Recent Posts

See All